पेनिस पर तिल का तेल लगाने के फायदे जानिए

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे इस पेज पर और आज का हमारा विषय है,पेनिस पर तिल का तेल लगाने के फायदे ? दोस्तों आज हम इस विषय के माध्यम से इंसान की व्यक्तिगत जीवन के बारे में बात करने वाले हैं,यानी कि इंसान के सेक्सुअल लाइफ के बारे में बात करने वाले हैं। आज के भाग दौड़ भरी जीवनशैली की वजह से इंसान अपनी सेहत का ख्याल रखना भूलते जा रहे हैं, और जानबूझकर नजरअंदाज कर रहे हैं। आम तौर पर सामान्य बीमारी पर इंसान आसानी से चर्चा विमर्श कर लेता है। लेकिन जब बात उसकी लैंगिक बीमारी की आती है तो उस वक्त वह हिचकिचाहट महसूस करता है, और वह बात कभी भी किसी से नहीं कर पाता है और ऐसे में और भी ज्यादा नजरअंदाज करने लगता है। तो दोस्तों आज हम पेनिस पर तिल का तेल लगाने के फायदे इस प्रकार के होते हैं, यानी कि तेल लगाने से लैंगिक बीमारियां दूर हो सकती है क्या ? और लैंगिक बीमारियां होती क्यों है, इसके कारणों के बारे में भी जानकारी प्राप्त करने वाले हैं।

साथ ही साथ लैंगिक बीमारियों पर इस प्रकार के घरेलू उपाय आजमाकर उनसे आसानी से छुटकारा पा सकते हैं। इसकी जानकारी देने वाले हैं, तो चलिए आगे बढ़ते हैं की पेनिस पर तेल क्यों लगाते हैं, इस विषय पर हम सबसे पहले चर्चा विमर्श कर लेते हैं। ताकि आपको आगे की जानकारी जो कि पेनिस पर तिल का तेल लगाने के फायदे इस प्रकार के होते हैं, इसको समझने में आसानी होगी

पेनिस पर तेल क्यों लगाते हैं ? Ling Par Tel kyu lagaye ?

दोस्तों किसी भी प्रकार का तेल अगर आप लेते हो जैसे कि नारियल का तेल, जैतून का तेल, राई का तेल, तिल का तेल, बादाम का तेल इत्यादि जैसे अन्य प्रकार के तेलो में एक कॉमन गुण होता है। जो कि इंसान के शरीर की त्वचा को मुलायम रखना और उसे अन्य बैक्टीरिया से दूर रखना। यानी कि तेलों में एंटीबैक्टीरियल नाम के गुण होते हैं,जिसकी वजह से किसी भी प्रकार की स्किन इन्फेक्शन यानी कि त्वचा की बीमारी से बचने में मदद होती है।

अन्य कारण बताए तो लिंग को निरोगी रखने के लिए और लिंग में मर्दाना ताकत जो वापस लाने के लिए तेल की मसाज की जाती है। तो इसी कारणों की वजह से पेनिस पर तेल लगाया जाता है।

पेनिस पर तिल का तेल लगाने के फायदे : Ling par Til ka Tel :

  • दोस्तों लिंग के लिए तिल का तेल अधिक उपयुक्त और फायदेमंद साबित होता है और यह थोड़ा महंगा भी होता है। तिल में कई प्रकार के आयुर्वेदिक गुन होते हैं। जो लिंग को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।
  • पेनिस पर तिल का तेल लगाने से पेनिस की त्वचा मुलायम रहती है।
  • रोजाना तिल के तेल की मालिश अगर आप लिंग की त्वचा पर करते हैं,तो इसी से ब्लड सरकुलेशन प्रोसेस यह बड़ी अच्छी तरह से होकर लिंग में जोश आने में मदद होती है।
  • लिंग पर पेनिस का तेल से मसाज करने पर लिंग का आकार मोटा हो सकता है।
  • तिल के तेल में एंटी बैक्टीरियल नामक गुण होता है जो लिंग को किसी भी प्रकार की त्वचा की एलर्जी से बचाए रखता है।
  • पेनिस के एरिया में हमेशा गर्मी होने के कारण उस जगह जलन महसूस होती है, तो इस चलन को कम करने में तिल का तेल अधिक महत्वपूर्ण कार्य करता है।
  • तिल के तेल की मसाज करने से लिंग का टेढ़ापन से छुटकारा हो जाता है।
  • तिल के तेल की मसाज करने से आपकी नींद में सुधार आता है यानी कि आप गहरी नींद ले सकते हो जिससे आपके शरीर में ऊर्जा उत्पन्न ना होने में मदद होती।
  • लिंग में अधिक कठोरता प्राप्त करने हेतु तिल के तेल की मसाज करना जरूरी होता है।
  • अगर आप रोजाना लिंग पर तिल का तेल लगाते हैं,तो यह आपको किसी भी प्रकार के रेडिएशन से बचाता है। यानी कि अगर आप जेब में मोबाइल फोन रखते हो तो मोबाइल से निकलने वाले रेडिएशन यूवी रेज आपके लिंग की त्वचा को इनफेक्ट कर सकते हैं। ऐसे में आपको दिल का तेल लगाने से यह फायदा हो सकता है।
  • अगर लिंग की त्वचा पर किसी प्रकार की चोट इंफेक्शन या खुजली के कारण जख्म हुई हो तो तिल का तेल लगाने से वह जल्द से दूर हो जाता है।
  • अगर किसी कारणवश लिंग में सूजन आई हो तो तिल का तेल उसे तुरंत कम कर देता है। सूजन पर यह तेल का भी असरदार तरीके से काम करता है।
  • तिल का तेल लिंग की नसों को अधिक बेहतरीन तरीके से काम करने के लिए स्वस्थ रखने में मदद करता है।

लिंग की तिल के तेल से कैसे मसाज करें ? Ling KE Upar Til ka Tel se massage kaise kare ?

दोस्तों सबसे पहले आप तिल के तेल को गर्म कर ले और गुनगुने तेल से मसाज करें। मसाज करते वक्त सबसे पहले लिंग पर हल्के हाथों से तेल को फैला दें और भी धीरे-धीरे लिंग की त्वचा पर उंगलियों से मसाज करें ऐसे में आप का लिंग खड़ा होना यानी कि कठोर होना जरूरी होता है, इसी से आप अधिक अच्छे से मसाज कर सकते हो।

मसाज करते वक्त आपको जल्दबाजी बिल्कुल भी नहीं करनी है हल्के हाथों से मसाज करनी है। अगर आपका पार्टनर आपके लिंग की मसाज कर दे तो यह सबसे बेहतर साबित होता है लेकिन इसमें एक ही सावधानी बरतनी होती है। की मसाज करते वक्त आपके लिंग से वीर्य स्खलन ना हो। अगर ऐसा होता है तो आपका लिंग कठोर नहीं हो सकता है और ढीले लिंग में मसाज करना मुश्किल हो जाता है।  तो ऐसे वक्त रुक रुक कर अगर आप मसाज करते हैं, तो आप का वीर्य स्खलन भी नहीं होगा और लिंग की अच्छे से मसाज हो सकती है।

Leave a Comment