स्त्री का दूध पीने के फायदे क्या है ? जानिए

नमस्कार दोस्तों आज का हमारा आर्टिकल है, स्त्री का दूध पीने के फायदे ? दोस्तों जैसे कि हमें बचपन से ही सिखाया जाता है, कि दूध का महत्व कितना होता है, और बचपन से ही हम मां का दूध पीते है। जब भी नवजात बालक जन्म लेता है। तो वह 6 महीने तक अपनी मां के दूध पर ही रहता है, वह पहले 6 महीने तक किसी भी प्रकार का आहार सेवन नहीं कर सकता है। वह सिर्फ मां के दूध से ही अपना पेट भर सकता है। इसके पीछे का वैज्ञानिक कारण है, कि नवजात शिशु को हर तरीके का प्रोटीन विटामिंस एनर्जी एंड न्यूट्रिशन चाहिए होता है। जो कि केवल मां के दूध से ही उसे उस आयु में मिल पाता है, क्योंकि उसका शरीर इस प्रकार से विकसित नहीं होता है; कि वह किसी भी प्रकार का भोजन सेवन करके उसे पाचन कर सके।

दोस्तों सबसे पहले हम आपको यह बता दें कि स्त्री का दूध पीना यह आपके सोच विचार विमर्श पर निर्भर होता है, क्योंकि कई सारे लोगों को यह गलत लगता है, और कई सारे लोग इस प्रक्रिया को बड़े आनंद के साथ अपने शरीर संबंध का लुफ्त उठा कर करते हैं। तो यह प्रक्रिया ना ही बुरी है। और ना ही ज्यादा अच्छी यह सिर्फ और सिर्फ आपके विचारों पर निर्भर करता है। ज्यादा अच्छी इसीलिए नहीं क्योंकि अगर आप आपके पाटनर के स्तनों का सारा दूध पी जाएंगे तो आप आपके नवजात शिशु के लिए पर्याप्त दूध इकट्ठा नहीं कर सकते हैं।

सभी को पता है, कि हर एक तरीके का दूध किसी ना किसी प्रकार से इंसान को फायदेमंद होता है, जैसे कि गाय का भैंस का बकरी का और कई प्रकार के जानवरों का दूध है, इंसानों के लिए फायदेमंद साबित होता है, ठीक उसी प्रकार महिलाओं का दूध भी अधिक महत्वपूर्ण और फायदेमंद होता है। जैसे कि महिलाएं वही खाना खाती है जो इंसान खाते हैं तो उसे खाने में क्या हर एक प्रकार का विटामिन प्रोटीन ग्लूकोस यह स्त्री के दूध पीने से मिलते हैं। दोस्तों हम इस आर्टिकल में स्त्री का दूध पीने के फायदे के बारे में जानकारी लेने वाले हैं, तो आइए आगे की जानकारी में स्त्री का दूध पीने के फायदे जान लेते हैं।

स्त्री का दूध क्यों पीना चाहिए ?

दोस्तों स्त्री का दूधिया का नवजात शिशु के लिए बेहद महत्वपूर्ण होता है ठीक उसी प्रकार महिलाओं का दूध अगर उसका पार्टनर या कोई अन्य व्यक्ति पीता है तो वह उसके लिए शारीरिक तौर पर फायदेमंद साबित होता है। अगर नवजात शिशु स्त्री का दूध पीता है, तो वह उसे जरूरत होती है क्योंकि वह अन्य खाना पाचन करने में असमर्थ रहता है तो जब तक नवजात शिशु का शारीरिक विकास पूरी तरह से नहीं होता है, तब तक वह तरीका दूध पी सकता है।

लेकिन अगर कोई जवान व्यक्ति या महिला का पाटनर यानी कि उसका पति एवं उसका बॉयफ्रेंड या ऐसा व्यक्ति जिसके साथ महिला अपने शारीरिक संबंध बनाना चाहती है, वह इंसान अगर उस स्त्री का दूध पिए तो उसी से उनके शारीरिक संबंध अधिक गहरे रूप से होने में मदद मिलती है। इसके बारे में थोड़ा गहराई से जानकारी देते हैं, किसी भी स्त्री का दूध यह प्रेगनेंसी के पहले नहीं आता है |

गर कोई महिला एक बार या दो बार प्रेग्नेंट हो चुकी हो तो उस महिला के स्तनों में दूध रहता है और ऐसी महिला अगर अपने पार्टनर के साथ संबंध बनाना चाहती है तो उस वक्त पाटनर उस महिला का दूध पी सकता है। इसमें या तो महिला या महिला के पाटनर का फेंटेसी होता है जैसे कि संबंध बनाते वक्त कोई मर्द स्त्रियों के स्तनों पर ज्यादा आकर्षित रहता है या कई स्त्रियों की विवाह फैंटेसी होती है कि वह अपने स्तन का दूध उसके पार्टनर को पिलाएं क्योंकि महिलाओं के बूब्स बहुत संवेदनशील होते हैं। तो ऐसे में स्त्रियों के बूब्स दबाने से या उनकी मसाज करने से तीनों में संबंध बनाने की इच्छा अधिक तीव्र हो जाती है, और वह शारीरिक संबंध का लुफ्त उठा पाती है। और ऐसा करने से उसे शारीरिक संबंध बनाने का सेटिस्फेक्शन यानी कि समाधान मिलता है। इसीलिए अगर अपने महिला पार्टनर की अगर इच्छा हो कि आप उनके स्थान दबाकर उनके स्थान का दूध पिए तो आपने ऐसा करना जरूरी होता है। जिससे आप आपके पार्टनर को सेटिस्फाइड कर सकते हो।

स्त्रियों का दूध पीने से होने वाले फायदे ?

  1. स्त्री का दूध पीने से आपको काफी पोषक तत्व मिलते हैं जिससे शारीरिक रूप से आपको फायदा होता है।
  2. स्त्री का दूध पीने से बूब्स की मसाज होती है जिससे और भी अधिक दूध निर्माण होने में स्त्रियों को फायदा होता है।
  3. प्रेगनेंसी के बाद काफी स्त्रियों का मूड चेंज होते रहता है यानी कि चिड़चिड़ा पानी गुस्सा तो ऐसे में अगर उसका पति है उसका पार्टनर उसके स्तन से उसका दूध पिए या उसके स्तन को थोड़ा मसाज कर दें तो इसी से स्त्रियों की कामोत्तेजना बढ़ जाती है। और उसे अपने तनाव दूर करने में मदद होती है जिससे वह अपने शिशु के अच्छे से देखभाल कर सकती है।
  4. स्त्रियों का दूध पीने से इम्यूनिटी पावर बढ़ती है।
  5. स्त्री का दूध पीने से शारीरिक संबंध बनाते समय उत्तेजना बढ़ाने में मदद होती है।
  6. स्त्री के दूध में लैक्टोज होता है जो कि आपको मसल गेन करने के लिए काफी फायदेमंद साबित होता है।
  7. स्त्री का दूध पीने से आप जल्द ही अपना वजन बढ़ा सकते हैं।
  8. स्त्री का दूध पीने से डायबिटीज को दूर करने में मदद होती है।
  9. स्त्रियों के दूध पीने से आप आपकी सेक्स पावर बढ़ा सकते हैं और आपके पार्टनर को संतुष्ट कर सकते हैं।
  10. ऐसा कहा जाता है कि स्त्री का दूध पीने से आप कैंसर जैसी बीमारी से भी बच सकते हैं। क्योंकि स्त्रियों का दूध पीने से आपकी इम्यूनिटी पावर बढ़ती है, जो कि आपके शरीर के अंदर के बैक्टीरिया और वायरस को मारने में मदद करती है।

दोस्तों इत्यादि प्रकार के फायदे आपको आपके पत्नी के दूध पीने से हो सकते हैं या आपके पार्टनर के स्तनों का दूध पीने से हो सकता है। लेकिन इस बात का ख्याल रखिए अगर आपकी पत्नी है, आपकी पार्टनर अभी-अभी प्रेग्नेंट हुई हो और आपको नवजात शिशु प्राप्ति हुई हो तो आप आप के शारीरिक संबंध बनाने से पहले आप के नवजात शिशु के लिए पर्याप्त दूध की मात्रा आपके पाटनर के स्तनों में रहने दे। और अपनी पार्टनर के स्तनों की अच्छे से मसाज करें जिससे उसमें अधिक दूध निर्माण कर सकते हैं। और ऐसे में आपकी बात में शारीरिक रूप से थोड़ी कमजोर हो जाती है तो वह पूरी तरीके से शारीरिक संबंध बनाने में असमर्थ रहती है तो आप केवल उनके शारीरिक अंगों के साथ खेल सकते हैं जिससे वह भी पूरी तरह से संतुष्ट हो जाते हैं।

Leave a Comment