Connect with us

Antarvasna

लिंग पर सरसों का तेल लगाने के फायदे

Published

on

लिंग पर सरसों का तेल

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको बताने वाले हैं कि लिंग पर सरसों का तेल किस प्रकार से फायदेमंद है | सबसे पहले हम यह जान लेंगे कि दरअसल सरसों का तेल यानी सरसों क्या है ?

दोस्तों सरसों का पौधा जेनेरिक ब्रासिका और सिनैपिस के  परिवार का ब्रेशिका में एक पौधे की प्रजाति है।जिसमे सरसों के बीज का उपयोग मसाले के रूप में किया जाता है। बीज को पानी, सिरका या अन्य तरल पदार्थ के साथ पीसने और मिश्रण करने से तैयार सरसों के रूप में  पीला मसाला बनता है। सरसों के पौधे को पीले कलर के फुल आते है यही उसकी पहचान है | दोस्तों सरसों का तेल यह काफी मेहेंगा होता है | जिसमे कीटाणु नाशक तत्व पाए जाते है | और सरसों के तेल में मोनोसैचुरेटेड फैटी एसिड और होली अनसैचुरेटेड फैटी एसिड साथ ही साथ  ओमेगा 3 फैटी एसिड और विटामिन ई का भरपूर मात्रा में अवेलेबल होता है |

सरसों के तेल की मसाज करने से शरीर में रक्त परिसंचरण बेहतर तरीके से बनाने में मदद मिलती है। इस तरह मांसपेशियों में दर्द दूर करने में भी सरसों का तेल उपयुक्त है। आम तौर पर देखा जाये तो सरसों का तेल स्वाभाविक रूप से गर्म होता है। तेल से मालिश करने से न केवल शरीर को गर्म किया जा सकता है; बल्कि शरीर की गर्मी को भी बरकरार रखा जा सकता है। इससे आप ठण्ड लगने से बच सकते है |

लिंग पर कोई भी तेल क्यों नहीं लगाए ? Ling ke liye Oil

जैसे की हमने आपको ऊपर की जानकारी में सरसों के तेल के बारे में जानकारी दी है | उसी प्रकार आपको अन्य  तेल के बारे में जानकारी होना आवश्यक है | अगर आपको किसी की जानकारी नहीं है और आपने अगर शरीर पर उस तेल का इस्तेमाल करते  हैं तो उससे आपको हानि हो सकती है |

अगर आप कोई भी तेल का इस्तेमाल अपने लिंग पर मसाज करने हेतु इस्तेमाल करते हैं तो इससे आपको उस तेल की वजह से साइड इफेक्ट हो सकते हैं | जलन होना, त्वचा का जलना, घाव हो जाना, लिंग पर सुजन, त्वचा का कालापन इत्यादि और अगर केमिकल से बने हुआ तेल हो तो उससे अधिक खतरा होता है | तो इसीलिए कभी भी बिना जानकारी के कोई भी तेल का इस्तेमाल करना हानिकारक साबित होता है | क्यों की वह तेल आप अपने लिंग पर लगाने वाले होते है और लिंग यह शरीर का नाजुक हिस्सा होता है |

सरसों का तेल लिंग के लिए क्यों फायदे मंद है ? Mustard oil Penis Ke liye

सबसे पहले हम आपको बता देते थे कि सरसों के तेल से मसाज करने से ब्लड सरकुलेशन, सर्दी,मासपेशियो का सिकुड़ना और दर्द ,जर्म प्रोटेक्षण, स्किन प्रोटेक्शन इत्यादि तरीके से फायदेमंद होता है |

  • सरसों का तेल लिंग पर लगाने से आप को सबसे बड़ा फायदा होगा कि आपका लिंग का आकार और लंबाई बढ़ सकती है |
  • सरसों के तेल से अगर आप रोजाना की मसाज करते हैं तो इससे आपकी वीर्य में वृद्धि होती है | कामवासना पढ़कर सेक्स स्टैमिना बढ़ जाता है |
  • सरसों के तेल से लिंग पर मसाज करने से लिंग की मांसपेशियों में लचीलापण आ जाता है, जिससे ब्लड सरकुलेशन यानी कि रक्त परिसंचरण क्रिया अच्छे से होती है | अगर आपके लिंग की त्वचा काली हो गई है तो सरसों के तेल की मसाज से उसने चमक आती है |
  • पूजा में सरसों के तेल से अगर लिंग को मजाक करते हैं तो लिंग के शुक्राणु बढ़ने लगते है |
  • अगर आप लिंग के साथ-साथ लिंग के इर्द-गिर्द के हिस्सों में भी सरसों के तेल से मसाज करते हैं, तो उससे अतिरिक्त चर्बी कम होती है जिससे आप फंगल इन्फेक्शन और ज्यादा पसीना आने से होने वाले अन्य इंफेक्शन से बच सकते हैं | इतने भी प्रकार के फायदे सरसों का तेल लिंग पर लगाने से होते हैं |
  • सरसों के तेल की मसाज से हमारे शरीर को विटामिन ई का फायदा होता है | और साथ ही साथ अतिरिक्त चर्बी घटाने में भी मदद मिलती है |

लिंग पर सरसों का तेल लगाने का सही तरीका : Ling Par Sarso ka Tel 

  1. अगर आप सरसों के तेल से अपने लिंग पर मसाज करने जा रहे हैं तो सबसे पहले आपको अपने लिंग को साबुन लगाकर अच्छे से गर्म पानी से धोना है |
  2. उसके बाद अगर आपके लिंग के ऊपर बाल होंगे तो उनको साफ कर लेना है ताकि आपको मसाज करते वक्त आसानी हो |
  3. सरसों के तेल को धीमी आंच पर गर्म करे | और अपने हाथों पर लेकर उसे धीरे-धीरे अपने लिंग पर और ऊपरी हिस्से में भी लगाए अपनी दोनों जांगू में भी इस तेल को लगाए जिससे लिंग के आजू बाजू वाला  हिस्सा पूरी तरह से मांसपेशियों की जकड़न से मुक्त हो जाता है |
  4. सरसों का तेल लिंग पर लगाने के बाद उसे हल्के हाथों से रगड़ना है ताकि बहुत त्वचा में आसानी से समा जाता है |
  5. अपने लिंग को थोड़ा प्रेशर के साथ पीछे की ओर से आगे की ओर कीजिए ताकि आपको लिंग की लंबाई करने में भी फायदा हो |
  6. फिर धीरे-धीरे लिंग के साथ-साथ लिंग के इर्द-गिर्द वाले हिस्से की अच्छी तरह से मसाज करे |

सरसों का तेल लिंग पर लगाते समय क्या खयाल रखे ? Ling par Mustard oil lagane ke Tips

सरसों का तेल लगाते वक्त आपको सबसे महत्वपूर्ण और इसी बात का ख्याल रखना सरसों का तेल लिंग की टोपी पर यानी कि लिंग के अंदर ना लगे | अगर लिंग के टोपे पर सरसों का तेल लग जाता है तो उसी से लिंग में जलन होना शुरू हो जाएगा और उसी कारण अन्य इंफेक्शन हो जाने का खतरा होता है |

सरसों के तेल को ज्यादा गर्म करके निकल पर कभी ना लगाएं इससे त्वचा जलने का खतरा होता है | मसाज करते हुए थे लिंगो को ज्यादा खींचे नहीं और ना ही मांसपेशियों को ज्यादा दबाव से उसकी मसाज करें | इससे मांसपेशिया ज्यादा सिकुड़ सकती है |

करने के लिए सरसों का तेल यह हो देखकर असली है या नकली |  क्योंकि आजकल बाजार में बहुत सारे दुकान वाले नकली सरसों की तेल की मिलावट करते हैं |

हमेशा लिंग की मसाज करने के लिए प्रेस सरसों का तेल ही ले | सरसों के तेल में किसी अन्य तेल को ना मिलाएं | और साथ ही साथ मसाज करते हुए अपने आप पर कंट्रोल रखें ताकि जब भी आप लिंग मसाज करते हो तो कामुकता में आकर आपको सेक्स करने की इच्छा उत्पन्न होगी जिससे आप की सही तरीके से मसाज नहीं होगी |

 

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Disclaimer:

Our website Name UDHP Stands for Unique Desi Hindi Portal. This Website ud-hp.in has no link with any govt. authority and specially Directorate Of Urban Development Himachal Pradesh and any of its official website. You can refer to their Official website www.ud.hp.gov.in for its official updates and information.